MP  News 

पुण्य को पुण्य में बदलो.मुनिश्री

पूण्य को पूण्य में बदलो अहंकार में नही मुनि अजित सागर 

सुशील संचेती

 आष्टा.... उक्त प्रवचन दिव्योदय जैन तीर्थ किला पर विराजित संत मुनि श्री अजित सागर जी ने नन्दीश्वर द्वीप अष्टाह्निका पर्व पर धर्म सभा को सम्बोधित कर कहे मुनि श्री ने आगे बताया कि पूण्य का प्रभाव अपने आप मे अदभुत होता है लेकिन पूण्य का प्रभाव बढ़ाने के लिए पूण्य ही करना होता है,जब तक हमारे पूण्य कर्म का उदय नही होता तब तक समीचीन परिणाम नही मिलते पूण्य के उदय में हम सब कुछ भूल जाते है पाप के उदय में सब याद रहता है,जैसे पाप के उदय में सावधान रहते हो ऐसे पूण्य के उदय में सावधान रहो,मुनष्य ही एक ऐसा प्राणी है जो कि अपने जीवन काल मे संयम धारण कर सकता है देव् भी पूजा करते है पर    संयम नही धर सकते पूण्य का प्रभाव ये होता है थोड़ा चाहता है ज्यादा मिल जाता है,पूण्य को पूण्य में बदलो अहंकार में नही ,अहंकार पतन का कारण बनता है ,गुरु जी की महिमा तो अपरम्पार है अपने जीवन काल मे आपको कुछ मिल सकता है विरले लोगो मे वे होते है जिन्हें गुरु याद करते है,गुरु के प्रति समर्पण शिष्य के अंदर होना चाहिए,भावना बढ़ाओ विशुद्धि बढ़ाओ, भगवान के मंदिर आओ तो अच्छे वस्त्र दिव्य वस्त्र साफ सुथरे वस्त्र सफेद वस्त्र पहन कर जाना चाहिए,हाथ में अष्ट द्रव्य लेकर चलना चाहिए ,मन्दिर जाने का नियम  होना चाहिए,अच्छे साफ श्वक्ष द्रव्य से पूजन करना चाहिए,जैनत्व को समझने की कोशिश करो आप सभी भव्य आत्मा है जिसने ये समझ लिया अपने अंदर के स्वरूप आत्म सत्ता को समझ लिया उसका कल्याण निश्चित है।



Posted By:Sushil sancheti






Follow us on Twitter : https://twitter.com/VijayGuruDelhi
Like our Facebook Page: https://www.facebook.com/indianntv/
follow us on Instagram: https://www.instagram.com/viajygurudelhi/
Subscribe our Youtube Channel:https://www.youtube.com/c/vijaygurudelhi
You can get all the information about us here in just 1 click -https://www.mylinq.in/9610012000/rn1PUb
Whatspp us: 9587080100 .
Indian news TV