Business News 

2 हज़ार रुपये जीतने के चक्कर में 50 अंडे खाने को तैयार हो गया, नहीं पता था ऐसे होगी मौत

हममें से कई लोग दिन भर मज़ाक के तौर पर शर्त लगाते रहते हैं. ‘मैं शर्त लगाकर कह सकता हूं’ ‘चाहो तो शर्त लगा दो’ जैसी बातें चलती रहती हैं. कई लोग इसे ताकिया क़लाम की तरह इस्तेमाल करते हैं. लेकिन ये शर्तें कभी-कभी बहुत महंगी पड़ जाती हैं. जौनपुर में इसी शर्त नाम की बला के चक्कर में एक शख्स को अपनी जान गंवानी पड़ी.

# क्या है मामला?

जौनपुर में एक बीबीगंज नाम का बाज़ार है. स्थानीय अख़बारों के मुताबिक़, कलां धौरहरा गांव के रहने वाले सुभाष का अपना क़ारोबार है. 1 नवंबर को बाज़ार में सुभाष कुछ लोगों के साथ अंडा खाने गए. वहीं हंसी मज़ाक में किसी ने कह दिया कि कौन कितने अंडे खा सकता है. हंसी हंसी में शर्त लग भी गई.

शर्त ये थी कि अगर सामने वाले ने 50 अंडे खाकर एक बोतल शराब भी पी ली तो 2000 जीत सकता है. यही शर्त जीतने के लिए सुभाष आगे आए. बताया जा रहा है कि 50 अंडे खाने की शर्त देखने के लिए बाज़ार में छोटी सी भीड़ जुट गई.

सुभाष ने अंडे खाने शुरू किए. हर अंडे पर लोग चीख चिल्ला कर माहौल बना रहे थे. 40 अंडे खाने के बाद लोगों ने तालियां बजा दीं. 41 अंडे तो सुभाष खा गया. जैसे ही उसने 42वां अंडा खाया. वहीं गिरकर बेहोश हो गया. लोग सुभाष को नज़दीकी अस्पताल ले गए. वहां देर रात इलाज के दौरान सुभाष की मौत हो गई.

# इसी साल दूसरी शादी की

बताया ये भी जा रहा है कि सुभाष ने इसी साल दूसरी शादी की थी. पहली पत्नी से चार बेटियां थीं. सुभाष ने दूसरी शादी क़रीब 9 महीने पहले की थी. सुभाष की पत्नी गर्भवती भी थीं. लेकिन अब सुभाष रहा नहीं. आस-पास इस घटना की भयानक चर्चा कर रहे हैं लोग. कुछ लोग सुभाष की ग़लती बता रहे हैं, कुछ लोग साथ वाले लोगों को ग़लत कह रहे हैं. कि उन्हें भी तो रोकना चाहिए था.

बात चाहे जो भी हो लेकिन अंत में एक व्यक्ति की मौत हुई. ऐसी भी क्या शर्त जिसमें ज़िंदगी हार जाए कोई.



Reported By:ADMIN
Indian news TV