Sports News 

पृथ्वी शॉ पर लगा बैन खत्म हुआ, लेकिन क्या टीम इंडिया में उनके लिए जगह है?

टेस्ट में आज भी ओपनिंग भारत की बड़ी समस्या बनी हुई है. पिछली 14 पारियों में भारतीय ओपनर सिर्फ एक बार 100 के आंकड़े को पार कर पाए हैं. साल 2018 में एक युवा खिलाड़ी ने डेब्यू किया, नाम है पृथ्वी शॉ. लेकिन साल की शुरुआत में वो भी डोपिंग के आरोपों में फंसकर बाहर हो गए. अब जो खबर आई है वो तसल्ली देने वाली है. पृथ्वी शॉ पर लगे बैन का आज आखिरी दिन है. और भी अच्छी बात ये है कि उन्हें मुंबई ने टीम में चुन लिया है.

पृथ्वी पर लगी डोपिंग की सज़ा आज खत्म हो जाएगी. 17 नवंबर को वो मुंबई के लिए आखिरी लीग मैच खेलेंगे. मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन ने एक बार फिर से अपने पुराने कप्तान पर भरोसा जताया है. उन्हें सैय्यद मुश्ताक अली टूर्नामेंट के लिए टीम में चुना गया है.

आखिर क्यों 8 महीने का बैन झेल रहे थे पृथ्वी शॉ:

डोपिंग के आरोप में बीसीसीआई ने पृथ्वी पर कार्रवाई की थी. बीसीसीआई ने बताया था कि 22 फरवरी, 2019 को पृथ्वी शॉ ने यूरिन सैंपल दिया था. तब सैयद मुश्ताक टूर्नामेंट चल रहा था. जांच में पृथ्वी के सैंपल में ‘टर्बूटलाइन’ मिला था. जोकि प्रतिबंधित है. 16 जुलाई को फिर शॉ पर बीसीसीआई के एंटी डोपिंग आर्टिकल 2.1 के तहत कार्रवाई की गई. शॉ ने अपनी गलती मानी थी और बताया था कि उन्होंने गलती से ये प्रोहिबिटेड सब्सटेंस ले लिया है. जो किसी सीरप में होता है जोकि उन्होंने कफ के इलाज के लिए पी थी.

बैन के बाद क्या कर रहे थे पृथ्वी शॉ?

पृथ्वी शॉ बैन के बाद से क्रिकेट के मैदान में जमे हुए हैं. मुंबई में वो लगातार प्रैक्टिस कर रहे है. हाल ही में अपने जन्मदिन पर भी उन्होंने प्रैक्टिस का वीडियो शेयर किया. साथ ही ओलम्पिक मेडलिस्ट पीवी सिंधू के साथ भी उनकी प्रैक्टिस की खबरें थीं. हैदराबाद में इस ट्रेनिंग में उनकी तकनीक और फुटवर्क पर काम करने की जानकारी थी. हालांकि ये ट्रेनिंग हुई या नहीं इसकी कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है.

Prithvi Shaw@PrithviShaw

I turn 20 today. I assure it will be Prithvi Shaw 2.0 going forward. Thank u for all the good wishes & support. Will be back in action soon.

Embedded video

16.6K

2:45 PM - Nov 9, 2019

Twitter Ads info and privacy

1,099 people are talking about this

बीसीसीआई प्रेसिडेंट सौरव गांगुली ने इस दौरान ही एनसीए चीफ राहुल द्रविड़ से भी मुलाकात की. उन्होंने पृथ्वी शॉ जैसे खिलाड़ियों की रिहैबिलिटेशन प्रोग्राम की भी बात की. द्रविड़ की निगरानी में ही पृथ्वी शॉ के एनसीए में भी प्रैक्टिस की खबरें हैं.

आगे भविष्य में क्या है उम्मीद:

बैन खत्म होने के बाद पृथ्वी फिर से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी कर सकते हैं. उनकी टीम इंडिया में वापसी की उम्मीद की जा सकती है. उन्होंने भारत के लिए पिछले साल डेब्यू किया था. पहले ही मैच में उन्होंने शतक जमाकर अपना नाम कर लिया था.

ऐसे में अब जब बतौर ओपनर भारत को विकल्प की तलाश है तो उनकी टीम में वापसी हो सकती है. टीम इंडिया को आगे टेस्ट चैम्पियनशिप में कई मैच खेलने हैं. ऐसे में भारत को तीसरे ओपनर की तलाश है. पृथ्वी की तकनीक कमाल की है और वो टेस्ट ओपनर के लिए प्रबल दावेदार भी हैं.

पृथ्वी जैसे डोपिंग बैन के बाद भी कई खिलाड़ियों ने की है वापसी:

जस्टिन गैटलिन:
19 साल की उम्र नें गेटलिन को दो साल के लिए बैन किया गया था. उन्हें ‘अटेंशन-डेफिसिट-डिसऑर्डर’ के लिए दवा लेने की वजह से बैन झेलना पड़ा था. गैटलिन ने बाद में वापसी करते हुए 2004 ओलम्पिक में 100 मीटर में गोल्ड मेडल जीता था. जिसके बाद वो साल 2006 में ड्रग टेस्ट में फेल हुए. इसके बाद उन्हें फिर से 4 साल का बैन झेलना पड़ा. इसके बाद उन्होंने फिर से वापसी की थी.

स्टीफन फ्लेमिंग:
एमएस धोनी के भरोसेमंद. चेन्नई सुपर किंग्स के कोच रहे स्टीफन फ्लेमिंग भी इसमें फंस चुके हैं. अपने खेल के दिनों में बाकी किवी खिलाड़ियों के साथ वो फंसे थे. उन पर 1993-94 में ‘मारिजुआना’ के सेवन करने का आरोप लगा था. इसके बाद फ्लेमिंग, मैथ्यू हार्ट और डिओन नेश पर तीन मैच का बैन लगा था. साथ ही उन्हें जुर्माना भी भरना पड़ा था. लेकिन ये सब पीछे छोड़ फ्लेमिंग ने मैदान पर वापसी की. वापसी भी ऐसी कि साल 2008 में जब उन्होंने संन्यास लिया, तो वो अपने देश में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले थे.



Reported By:ADMIN
Indian news TV