Sports News 

एशेज हारने पर पीटरसन ने पोल करवा दिया, फिर इंग्लैंड बोर्ड को लताड़ के रख दिया

एशेज सीरीज. इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच होने वाली ये जंग एकदम जीवन-मरण वाली होती है. और इस बार इसे अपने नाम किया है ऑस्ट्रेलिया ने. ज्यादा बड़ी उपलब्धि ये है कि ऑस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड को इंग्लैंड में हराया है. ऑस्ट्रेलिया वाले इस जीत के बाद से एकदम जश्न वाले मोड में हैं. मगर विश्व विजेता इंग्लैंड निराश है. कित्ता निराश है. या एशेज उनके लिए कितना बड़ा है. ये समझने के लिए केविन पीटरसन से अच्छा उदाहरण नहीं हो सकता. इस पूर्व इंग्लिश बल्लेबाज ने ट्विटर पर एक पोल डाला. पूछा –

जब ऑस्ट्रेलिया ने हमें बुरी तरह हरा दिया है तो मैं फिर ये सवाल पूछना चाहूंगा. आप क्या जीतना ज्यादा पसंद करेंगे –

एशेज या वर्ल्डकप…?

 

केविन ने इस पोल में खुद का जवाब भी दे दिया. कहा- मैं तो हमेशा एशेज ही जीतना चाहूंगा.

अब बारी इस पोल के रिजल्ट की. कुल 52 हजार 101 लोगों ने इसमें वोट किया. जिसमें 53 फीसदी लोगों ने एशेज को जीतना ज्यादा जरूरी बताया. वर्ल्डकप के फेवर में 47 फीसदी लोग रहे. ये पोल यह समझाने के लिए काफी है कि एशेज कितनी बड़ी चीज है. इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया दोनों के लिए. ऑस्ट्रेलिया के लिए इस सीरीज में हीरो रहे स्टीव स्मिथ ने भी इसे एक सपने के पूरा होने जैसा बताया था. कहा था कि इंग्लैंड में एशेज जीतना मेरी बकट लिस्ट में था.

पीटरसन ने अपने इस पोल के ऊपर ब्लॉग भी लिखा. इसमें बताया कि कैसे इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड ने चार साल पहले वनडे क्रिकेट पर फोकस करने का निर्णय लिया था. टेस्ट को किनारे लगा दिया था. बोले कि मैं कभी इसके समर्थन में नहीं रहा. टेस्ट क्रिकेट बहुत नायाब चीज है. हमें हर हाल में इसे सहेजना चाहिए. उन्होंने अपनी बात के समर्थन में इस पोल का भी हवाला दिया. बोर्ड की तरफ इशारा करते हुए कहा कि पब्लिक क्या फील करती है देख लीजिए. और अपना रवैया बदलिए टेस्ट क्रिकेट के लिए. पीटरसन ने टीम में कई बदलावों की भी वकालत की. मोन्टी पनेसर का मजाक बनाने का भी विषय उठाया. कहा कि मोन्टी अच्छा बॉलर था, उसने भारत में जाकर भारत को हराने में हमारी मदद की. मगर उसकी बैटिंग का मजाक बना उसे बाहर कर दिया गया. जबकि टीम को ऐसे ही मैच विनर्स की जरूरत है.



Reported By:ADMIN
Indian news TV