National News 

जम्मू-कश्मीर पर मोदी सरकार के फैसले के बाद पाकिस्तान ने ये धमकियां दी हैं

जम्मू-कश्मीर पर भारत सरकार के फैसले का पाकिस्तान ने विरोध किया है. जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त करने और अनुच्छेद 370 के एक प्रावधान को छोड़कर बाकी सभी प्रावधानों को खत्म करने के फैसले के बाद पाकिस्तान ने तीखी प्रतिक्रिया दी है. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने 7 अगस्त को नेशनल सिक्युरिटी काउंसिल की मीटिंग बुलाई थी. पाकिस्तान सरकार के आधिकारिक ट्विटर हैंडल की ओर से इस मीटिंग के बारे में जानकारी दी गई है.

पीएम इमरान खान ने प्रधानमंत्री कार्यालय में हुई एनएससी की बैठक की अध्यक्षता की. इस कमिटी ने कई फैसले किए. पाकिस्तान ने भारत के साथ राजनयिक संबंधों को कम करने का फैसला किया है. पाकिस्तान भारत के उच्चायुक्त को वापस भेजेगा और नई दिल्ली से अपने उच्चायुक्त को भी वापस बुलाएगा. पाकिस्तान ने भारत के साथ द्विपक्षीय व्यापार को भी सस्पेंड करने का फैसला किया है. द्विपक्षीय रिश्तों और समझौतों की समीक्षा की बात कही है. पाकिस्तान ने कश्मीर के मसले को सुरक्षा परिषद सहित संयुक्त राष्ट्र में ले जाने की धमकी दी है. पाकिस्तान ने ये भी फैसला किया है कि 14 अगस्त को कश्मीर के साथ एकजुटता के रूप में मनाएगा. इस दिन पाकिस्तान अपना स्वतंत्रता दिवस मनाता है. साथ ही पाकिस्तान ने भारत के स्वतंत्रता दिवस को काला दिवस के रूप में मनाने का फैसला किया है. 


भारत ने अनुच्छेद 370 के कुछ प्रावधान खत्म कर दिए हैं. इसके तहत जम्मू-कश्मीर को कई तरह के विशेषाधिकार मिले हुए थे. इसके अलावा राज्य को 2 केंद्रशासित राज्यों जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में बांट दिया गया है. भारत के इस फैसले के बाद पाकिस्तान भारत को लगातार धमकियां दे रहा है.

एक दिन पहले यानी 6 अगस्त को इमरान खान ने संसद में कहा था कि कश्मीर पर फैसलों के बाद भारत में पुलवामा जैसे हमले हो सकते हैं. इमरान खान ने दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ने की बात कही थी.

वहीं पाकिस्तान सरकार में मंत्री फवाद चौधरी कह चुके हैं कि पाकिस्तान को भारत के खिलाफ युद्ध से नहीं डरना चाहिए. पाकिस्तान को अपमान और युद्ध में से किसी एक को चुनना होगा. उन्होंने भारत के साथ द्विपक्षीय रिश्तों को पूरी तरह से खत्म करने की मांग की थी. इसके बाद हुई मीटिंग में भारत के खिलाफ कई फैसले लिए गए.



Reported By:ADMIN
Indian news TV