National News 

IAS अफसर ने शराब के नशे में बाइक को टक्कर मारी, पत्रकार की मौत, अब जेल में है

मुन्नार. केरल का खूबसूरत पर्यटन स्थल. यहां कुछ वक्त पहले मिशन मुन्नार 2 हुआ था. कारिंदे थे श्रीराम वेंकटरमन. IAS ऑफिसर. खूबसूरत जगहों पर अक्सर अवैध कब्जे होते हैं. मुन्नार में हुए थे. मिशन मुन्नार 2 के तहत ये कब्जे छुड़ाए गए थे. मिशन के बाद खूब वाहवाही हुई थी IAS ऑफिसर श्रीराम वेंकटरमन की. 2013 में दूसरा रैंक हासिल करके IAS बने श्रीराम को मीडिया ने पलकों पर बिठा लिया था. सोशल मीडिया पर भारी फॉलोइंग थी. फेसबुक पर क़रीब 60 हजार फॉलोअर्स हैं.

लेकिन 3 अगस्त 2019 की सुबह ऐसी थी कि इस जवान अफसर का नाम बर्बाद होने में देर न लगी. कारण बना दारू पीकर गाड़ी चलाना और उसकी वजह से हुई एक गमी. श्रीराम की गाड़ी से हुई टक्कर में एक पत्रकार की मौत हुई है. पुलिस ने श्रीराम को गिरफ्तार कर लिया है. और अब जांच की जा रही है.

हादसे की तस्वीर (फोटो- जीनू जैकब)

क्या है मामला
श्रीराम अपनी दोस्त के साथ कार से लौट रहे थे. उनके सर्वे डायरेक्टर बनने की खुशी में पार्टी रखी गई थी. शनिवार, 3 अगस्त की अल सुबह. रात के क़रीब 1 बजे थे. जब वो त्रिवेंद्रम के म्यूज़ियम चौराहे पर आए तो उन्होंने गाड़ी एक बाइक में भिड़ा दी. बाइक चला रहे थे पत्रकार के.एम. बशीर. भिडंत ज़ोरदार थी. बाइक पर सवार पत्रकार बशीर को काफी चोट आई. उन्हें अस्पताल लेकर गए थे. लेकिन बचाया नहीं जा सका. बशीर ‘सिराज डेली’ मीडिया ग्रुप के त्रिवेंद्रम ब्यूरो चीफ थे. उस रात कोल्लम से त्रिवेंद्रम आ रहे थे. क़रीब 60 किलोमीटर का सफर तय करने के बाद अपने घर पहुंचने ही वाले थे. लेकिन म्यूज़ियम चौराहे पर दुर्घटना हो गई. सड़क दुर्घटना में IAS श्रीराम वेंकटरमन को चोटें लगी हैं. वहीं उनकी महिला साथी सुरक्षित हैं.

मृत पत्रकार केएम बशीर. (फोटो- सिराज डेली)

पुलिस ने मामला ढंकने की कोशिश की
न्यू इंडियन एक्सप्रेस की ख़बर के मुताबिक लोगों के विरोध के बाद श्रीराम की गिरफ्तारी हुई. लोगों का आरोप है था कि पुलिस मामले पर पर्दा डालने की कोशिश कर रही थी. जब हल्ला कटा तो पुलिस ने श्रीराम को हादसे से काफी देर बाद 3 अगस्त की शाम को गिरफ्तार किया. अब अफसर पर IPC की धारा 304 (गैर-इरादतन हत्या) और धारा 279 (रैश ड्राइविंग) के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है. श्रीराम को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है. फिलहाल श्रीराम का इलाज एक प्राइवेट अस्पताल में चल रहा है, जैसे ही हालत में सुधार होगा तो अफसर को जेल ट्रांसफर कर दिया जाएगा.

पुलिस पर आरोप और भी हैं. जैसे- श्रीराम का ब्लड सैंपल घटना के 9 घंटे बाद लिया गया. चश्मदीदों का कहना था कि श्रीराम ही ड्राइविंग सीट पर थे. न कि उनकी दोस्त . पुलिस पहले कहती रही कि श्रीराम की महिला मित्र गाड़ी चला रही थीं. लेकिन बाद में पुलिस ने माना कि गाड़ी श्रीराम ने ही चलाई थी.

पुलिस ने क्या कहा

ब्लड सैंपल लेने में देरे करने और श्रीराम का पक्ष लेने के आरोपों पर पुलिस ने सफाई दी है. त्रिवेंद्रम के एसीपी संजय कुमार ने कहा-

पुलिस को कानूनी प्रकिया फॉलो करनी होती है. कानून के हिसाब से वो किसी को भी ब्लड सैंपल देने के लिए मजबूर नहीं कर सकते.

बाद में पुलिस ने माना कि श्रीराम ने शराब पी रखी थी.

महिला मित्र ने क्या कहा

श्रीराम की महिला मित्र की गाड़ी से ही ये हादसा हुआ है. उनके मुताबिक,

श्रीराम के कहने पर मैं सिवल सर्विस अफसरों के क्लब में गाड़ी लेकर पहुंची थी. जब वापस निकलने लगे तो श्रीराम ने गाड़ी चलाने की ज़िद की. उसने शराब पी रखी थी. वो तेज़ गाड़ी चला रहा था. मेरे बार-बार कहने पर भी उसने गाड़ी धीमी नहीं की. फिर ये हो गया.

श्रीराम का करियर

श्रीराम ने MBBS करने के बाद 2013 सिवल सेवा की परीक्षा पास की. दूसरा रैंक हासिल किया था. जब श्रीराम की पोस्टिंग मुन्नार में हुई तो वहां बहुत सारी जगहों पर अवैध कब्जे हुए थे. श्रीराम के एक्शन लिया तो बहुत सारे लोग खिलाफ हो गए. खासतौर पर राजनेता. सत्ताधारी सीपीएम के नेता श्रीराम के एक्शन के खिलाफ थे. देवीकुलम के विधायक एस राजेंद्रन और इडुक्की जिले के ताकतवर नेता एम.एम. मणि श्रीराम के खिलाफ हो गए थे.

श्रीराम वेंकटरमन का करियर. खुद के फेसबुक अकाउंट पर ये इन्फोर्मेशन दी है.

ऐसा एक और मुद्दा हुआ. इडुक्की जिले के एक चर्च में अवैध क्रिश्चियन क्रॉस लगा था जो बाहर की ओर लटक रहा था. जब उस पर कार्रवाई की तो उन्हें भाजपा-आरएसएस का दलाल बता दिया गया. बाद में उनका कार्यकाल पूरा होने से पहले ही ट्रांसफर कर दिया गया था. लोकल नेता उनकी कार्रवाई को बाबरी विध्वंस की संज्ञा दे रहे थे. लेकिन श्रीराम ने विरोध के बावजूद कार्रवाई की थी.

श्रीराम वेंकटरमन. फोटो- फेसबुक.

त्रिवेंद्रम के इस सड़क हादसे पर वहां के सांसद और कांग्रेस नेता शशि थरूर ने ट्वीट किया है. उन्होंने केएम बशीर की मौत पर शोक जताया है.

3 अगस्त को हुए हादसे के बाद से श्रीराम का एक ओर चेहरा लोगों के सामने आया है. सोशल मीडया पर बड़ी शख़्सियत रखने वाले IAS अधिकारी श्रीराम वेंकटरमन सलाखों के पीछे हैं.



Reported By:ADMIN
Indian news TV