MP News 

मासूमो की शिक्षा का दुश्मन बन रहा वार्ड 6 का अतिक्रमणकर्ता "मासूम"

मासूमो के भविष्य निर्माण के लिये बनने वाली प्रा.शाला के निर्माण में अतिक्रमणकर्ता मासूम बना बाधक...

आष्टा नपा के वार्ड क्रमांक 6 में सरकारी भूमि पर अतिक्रमण

 दबंग अतिक्रमणकर्ता शासन और प्रशासन पर भारी 

उक्त जमीन पर बनना है देश के नौनिहालों के भविष्य का निर्माण करने वाली  प्रा.शाला

सुशील संचेती 

 आष्टा। आष्टा नगरपालिका के वार्ड क्रमांक 6 में 5 लाख की लागत से मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्र में एक शा.प्राथमिक शाला का निर्माण होना है लंबे समय से प्रस्तावित इस बनने वाली प्राथमिक शाला का मामला लाल बस्ते के अंदर झूल रहा था।
 जैसे तैसे अब उसके निर्माण का रास्ता साफ हुआ तो बनने वाली इस शाला की सरकारी जमीन पर एक दबंग अतिक्रमण करता ने पूरे शासन और प्रशासन को अपनी दबंगई के आगे पंगु बना कर रख दिया है।
 उक्त अतिक्रमणकर्ता मासूम पिता पदम खां जोकि ग्राम गुराडिया रूपचंद का रहने वाला है, इसे प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत ग्राम में एक आवास भी स्वीकृत हुआ है जो बनकर तैयार हो चुका है।
 उक्त आवास प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत मिलने के बाद भी इस दबंग अतिक्रमणकर्ता ने आष्टा नगर की सीमा में लगने वाले वार्ड क्रमांक 6 में एक सरकारी जमीन जो की राजस्व विभाग की है पर अतिक्रमण कर रखा है।
 जिसको लेकर पहले तो यह तय नहीं हो पा रहा था कि उक्त अतिक्रमण नगर पालिका आष्टा की जमीन पर है या राजस्व विभाग की जमीन पर है।
 जब पिछले दिनों उक्त बनने वाली प्राथमिक शाला के निर्माण के भूमि पूजन अवसर पर बीआरसी के निमंत्रण पर नगर पालिका अध्यक्ष कैलाश परमार उक्त स्थल पर शाला निर्माण का  भूमि पूजन करने पहुंचे तब इस अतिक्रमण करता ने बनने वाली उक्त शाला के निर्माण का भूमि पूजन नहीं होने दिया और यहां से बीआरसी के अजबसिंह राजपूत एवं नगर पालिका अध्यक्ष कैलाश परमार को बिना भूमि पूजन किये वापस उलटे पैर लौटना पड़ा था। इसके बाद इस वार्ड के अनेकों नागरिकों ने वार्ड पार्षद शाहरुख कुरैशी के नेतृत्व में आष्टा तहसील कार्यालय पहुंचकर अनुविभागीय अधिकारी राजेश शुक्ला की अनुपस्तिथि में एक ज्ञापन नायब तहसीलदार अंकिता वाजपेयी को सौंपा था।
 जिसमें उक्त अतिक्रमण करता के कब्जे से शाला भवन निर्माण होने वाली भूमि को मुक्त कराने की मांग की थी।
 लेकिन उक्त पूरे घटनाक्रम और वार्ड वासियों की मांग के बाद भी राजस्व विभाग अपनी जमीन को अतिक्रमण करता के अतिक्रमण से मुक्त नहीं करा पा रहा है।
 उसके बाद से ही लगातार वार्ड वासियों एवं अतिक्रमणकर्ता के बीच वाद विवाद लगातार चलता जा रहा है।
 आज फिर इस वार्ड के नागरिकों ने अतिक्रमण करता के खिलाफ एक ज्ञापन सौंपा है जिसमें वार्ड के लोगों ने उस पंचनामे को पूरी तरह से झूठा बताया जो उसके द्वारा कई स्थानों पर दिया है जिसमे यह उल्लेख है कि हम वार्डवासियों को जिनके हस्ताक्षर है को उक्त अतिक्रमण से कोई परेशानी शिकायत नही है,आज वार्ड वासियों ने उक्त पंचनामे को झूठा बताया और कहा की अतिक्रमणकर्ता मासूम लगातार धमकियां दे रहा है की मेरी शिकायत की तो सभी शिकायत करने वाले को कही भी किसी भी झूठी शिकायत कर फ़सवा दूंगा। वार्ड वासियों ने स्पष्ट किया है कि अतिशीघ्र सरकारी जमीन पर अतिक्रमण करता मासूम पिता पदम खा के कब्जे से उक्त सरकारी जमीन को मुक्त कराया जाये एवं उस पर शाला का निर्माण कराया जाये ताकि इस गरीब पिछड़ी बस्ती में रहने वाले परिवारों के छोटे छोटे बच्चे पढ़ सके।
  आखिर पूरा शासन और प्रशासन पर वार्ड क्रमांक 6 की एक सरकारी जमीन पर अतिक्रमण करने वाला आखिर ऐसा कितना बड़ा दबंग है इसकी दबंगाई के आगे पूरा शासन और प्रशासन पंगु बना हुआ है।
 यह मामला तहसील और जिले से लेकर अब मध्य प्रदेश शासन के मंत्री सीहोर जिला प्रभारी आरिफ अकील तक भी जा पहुंचा है।
 देखना है कि अब जिले के प्रभारी मंत्री इस मामले को किस रूप में संज्ञान लेते हैं।
 क्या वे इस अतिक्रमण के मामले को संज्ञान में ले कर उसे हटवाने के निर्देश देते है या फिर उक्त दबंग अतिक्रमण करता प्रभारी मंत्री पर भी भारी सिद्ध होता है..?
इनका कहना है:-आज तहसीलदार मोके पर पहुचे थे,स्थल निरीक्षण करा है,अतिक्रमणकर्ता के खिलाफ प्रकरण पंजीबद्ध किया गया है,वही मोके पर यह भी पाया की शाला भवन निर्माण के लिये जितनी जगाह की आवश्यकता है उतनी पर्याप्त जगाह मोके पर उपलब्ध है,नपा ने लेआउट भी कर लिया है,उसके बाद भी नपा वहां क्यो शाला भवन का निर्माण शुरू नही कर रही है समझ से परे है:-श्री राजेश शुक्ला एसडीएम आष्टा



Reported By:Sushil Sancheti
Indian news TV