Business News 

सरकार ने बजट में ऐसा क्या किया, जिससे हर कोई निराश हुआ

5 जुलाई, 2019. मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला बजट पेश हुआ. बजट पेश किया वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने. इस बजट में लोगों को उम्मीद थी कि इन्कम टैक्स में कुछ छूट मिलेगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ. निर्मला सीतारमण ने इन्कम टैक्स में कोई छूट नहीं दी. साथ ही उन लोगों पर ज्यादा टैक्स लगा दिया जो ज्यादा अमीर हैं. निर्मला सीतारमण ने इनकम टैक्स के स्लैब पहले जैसे ही रखे हैं. इनमें कोई बदलाव नहीं किया गया है. इसे ऐसे समझ लीजिए-

 

TAX_CALCULATION

# जिनकी सालाना आमदनी सिर्फ पांच लाख रुपये है, उन्हें कोई टैक्स नहीं देना पड़ेगा.

# जिनकी आमदनी पांच लाख रुपये से एक रुपये भी ज्यादा है, वो छूट के दायरे में नहीं आएंगे और उन्हें ऊपर वाले चार्ट के हिसाब से टैक्स देना पड़ेगा.

# इसके अलावा पहले होम लोन के ब्याज पर साल में दो लाख रुपये तक इन्कम टैक्स छूट थी, जिसमें डेढ़ लाख रुपये बढ़ा दिए गए हैं. अब ये साढ़े तीन लाख रुपये हो गई है. मतलब ये कि होम लोन के ब्याज के पार्ट पर अब 3.5 लाख रुपए तक की छूट क्लेम की जा सकेगी. 

TAX_TO_GDP

टैक्स से जीडीपी पर भी असर पड़ता है.

# इलेक्ट्रिक गाड़ियों को खरीदने के लिए लिए गए कर्ज पर ब्याज के भुगतान में 1.5 लाख रुपये की इन्कम टैक्स में छूट दी गई है.

# दो से 5 करोड़ रुपये की सालाना कमाई पर 3 फीसदी का एक्स्ट्रा टैक्स लगेगा.

# 5 करोड़ रुपये से ज्यादा कमाई पर 7 फीसदी का एक्स्ट्रा टैक्स लगेगा.

# अगर आप सालभर में अपने खाते से एक करोड़ रुपये से ज्यादा निकालते हैं तो 2 फीसदी का टीडीएस देना पड़ेगा.

# 400 करोड़ रुपये सालाना तक का कारोबार करने वाली कंपनियों पर 25 प्रतिशत की दर से कॉरपोरेट टैक्स लगेगा. अभी तक 250 करोड़ रुपये तक का कारोबार करने वाली कंपनियों पर 25 प्रतिशत का टैक्स लगता था.

# 400 करोड़ रुपये सालाना से ऊपर का कारोबार करने वाली कंपनियों पर 30 फीसदी की दर से कॉरपोरेट टैक्स लगेगा.



Reported By:ADMIN
Indian news TV