State News 

कौन है ये मोईन कुरैशी, जिसने भैंस का मीट बेचकर करोड़ों रुपये विदेश में जमा कर लिए

अक्सर ये खबरें छपती हैं चारों ओर. कैसा लगता है ये पढ़ के? लगता है कि ये आदमी समय, काल, दशा, दिशा सबसे परे है. कोई हाथ नहीं डाल सकता, इसकी जो मर्जी होगी कर लेगा:

-मीट कारोबारी मोईन कुरैशी से हवाला कारोबार के बारे में हुई पूछताछ 
-विदेश से लौटने के बाद ही मोईन कुरैशी पहुंचा ईडी मुख्यालय, दिल्ली स्थित ईडी मुख्यालय में मंगलवार को हुई पूछताछ
-कई नौकरशाहों को घूस देने का भी है आरोप 
-पिछले काफी समय से विदेश दौरे पर था आरोपी मोईन कुरैशी
-ईडी के साथ – साथ इनकम टैक्स विभाग भी कर रही है मामले की जांच 
-इनकम टैक्स पहले भी भेज चुकी है कई बार नोटिस 
-कुरैशी के परिवार वाले भी हैं जांच एजेंसियों के राडार पर 
-विदेशों में बनाई गई अवैध सम्पति की जानकारी छुपाने का भी है आरोप

हालांकि अब ऐसा नहीं होगा. इसकी वजह ये है कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने उसे शुक्रवार को दिल्ली से गिरफ्तार कर लिया. 26 अगस्त को उसे दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में पेश किया जाना है. 

कौन है ये आदमी? क्या है ये आदमी?

90 के दशक में मीट बेचता था. परिवार का मीट बिजनेस 50 के दशक में शुरू हुआ था. कुरैशी के पिता अब्दुल माजिद चलाते थे दुकान. रामपुर में. दिल्ली सप्लाई होती थी मीट की. पैसा तब बनना शुरू हुआ जब एक्सपोर्ट करने के धंधे में आ गये. मोईन कुरैशी दस सालों में देश के सबसे बड़े मीट व्यापारियों में से एक हो गया. अब तो ये भैंस के मीट के सबसे बड़े व्यापारी हैं. यूपी से देश का 70 प्रतिशत बफलो मीट एक्सपोर्ट होता है. और अब इनकम टैक्स और एन्फोर्समेंट डायरेक्टोरेट दोनों इस के पीछे पड़े हैं. मतलब आय से अधिक संपत्ति और मनी लांडरिंग दोनों में ही इसका नाम है. वैसे तो इनकम टैक्स का छापा पड़ना आज के जमाने में प्रतिष्ठा का विषय है. पर इनकम टैक्स वालों को छका देना ताज्जुब का विषय है.

 

meat

कानपुर से बिजनेस शुरू करने वाले मोईन कुरैशी को कोई धरता भी है तो एयरपोर्ट पर. डिटेन किया जाता है. पर वो निकल जाता है. दुबई. हाई कोर्ट कहती है कि विजय माल्या मत बनो. वापस आ जाओ. पर वो नहीं आता है. अपनी मर्जी से वापस आता है. ये आदमी कांग्रेस की सरकार में भी उतना ही ताकतवर था. सीबीआई डायरेक्टर को इनका दोस्त कहा जाता था. प्राइम मिनिस्टर नरेंद्र मोदी ने भी कई बार इनका नाम लिया है. लोग कहते हैं कि सोनिया गांधी से कुरैशी के अच्छे रिश्ते रहे हैं. 2014 के चुनाव में नरेंद्र मोदी ने कहा कि सोनिया के इशारे पर ही कुरैशी की इनकम टैक्स वालों ने जांच नहीं की. जनता के दिमाग में पहली बार मोईन कुरैशी का नाम तभी गूंजा था जब नरेंद्र मोदी ने 2014 की अपनी रैली में कहा था कि कुरैशी का रास्ता 10, जनपथ से हो के जाता है. लोग ये भी बताते हैं कि मोईन कुरैशी ने 2004 में बीजेपी का टिकट लेने की पूरी कोशिश की थी.

पूरा नाम है मोईन अख्तर कुरैशी. देहरादून के दून स्कूल और दिल्ली के सेंट स्टीफन कॉलेज से पढ़े हैं. स्कूल-कॉलेज के एलुम्नाई मीट में सक्रिय रहे हैं. सबसे कॉन्टैक्ट बना के रखा है. 1993 के बाद से कुरैशी ने कंस्ट्रक्शन और फैशन से लेकर हर तरह की 25 कंपनियां खोल रखी हैं. AMQ Agro इनका सबसे बड़ा ब्रांड है, जो कि मीट का है. 1995 से ही मोईन कुरैशी पोंटी चड्ढा का दोस्त रहा है.

दिल्ली के छतरपुर में कुरैशी का एक फॉर्महाउस है. इसे फ्रेंच आर्किटेक्ट जॉन लुई डेनिओट ने डिजाइन किया था. ये डिजाइन मैगजीन एल डेकोर के कवर पर भी छपा था. घर का फाइनल डिजाइन पिकासो के केन्स के घर के जैसा है. 100 साल पुराना लुक लिये हुये. ड्राइंग रूम का सोफा, कॉकटेल टेबल और कैबिनेट सब डिजाइन किये गये थे. पुराने शाही लुक लिये हुए. बर्तन 17वीं शताब्दी के इटैलियन स्टाइल में थे. बाथरूम इंदौर के महाराजा के मशहूर बाथरूम की तर्ज पर बना था. मतलब घर की हर चीज किसी ना किसी स्टाइल में बनी थी. ये सारा टेस्ट था कुरैशी की बीवी नसरीन का. एक से बढ़कर एक शौक.

कुरैशी पर इनकम टैक्स की नजर पड़ी 2011 में. जब उसकी बेटी पर्निया की शादी हुई. शादी में उसने राहत फतेह अली खान को बुलाया था गाना गाने के लिये. और राहत को ही पहले धरा गया. विदेशी मुद्रा में 56 लाख रुपये लेकर ट्रेवल कर रहे थे. फिर चारों ओर कुरैशी की लाइफस्टाइल और वेल्थ को लेकर चर्चाएं होने लगीं. दिखाया जाने लगा कि वो कितनी आलीशान जिंदगी जीता है. फरवरी 2014 में इनकम टैक्स की टीमों ने मोईन कुरैशी के 15 लोकेशन्स पर छापा मारा. उनमें से एक जगह सीबीआई डायेरक्टर ए पी सिंह की थी. वहां से कुरैशी अपना ऑफिस चलाता था. इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक कुरैशी सीबीआई के डायरेक्टर्स ए पी सिंह और रंजीत सिन्हा से करीबी था. मैसेज-वैसेज चलते थे. उन मैसेजों पर इनकम टैक्स वालों ने जांच बिठा रखी है.

ranjit-sinha

रंजीत सिन्हा

कहा जाता है कि रंजीत सिन्हा के साथ बस फोन का ही रिश्ता नहीं था. बातें ज्यादा होती थीं. दोस्ती ज्यादा थी.जब रंजीत सिन्हा की विजिटर डायरी का हंगामा हुआ था. तब उसमें कुरैशी का नाम भी था. 15 महीनों में कुरैशी रंजीत सिन्हा के घर 70 बार गया था. कई बार कुरैशी की बीवी भी गई थीं. ए पी सिंह वही हैं जिन्होंने 2012 में कहा था कि भारत से 500 बिलियन डॉलर विदेशों में जमा है. पहली बार किसी अफसर ने इतना खुल के बयान दिया था. ये ए पी सिंह बाद में यूपीएससी के मेंबर भी बने. इंटरव्यू लेते थे सिविल सर्विसेज कैंडिडेट्स के. इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के मुताबिक मोईन कुरैशी का नाम देश के उन सबसे चतुर लोगों में शामिल है जो सबसे ज्यादा टैक्स चोरी करते हैं. ई़डी के मुताबिक कुरैशी ने दो सौ करोड़ रुपये विदेशों में छुपा रखे हैं. 2015 में ईडी ने कुरैशी को बहुत सारी नोटिसें भेजीं. हांगकांग, स्विटजरलैंड, साउथ अफ्रीका, बरमूडा कई जगह रखे पैसों के बारे में पर कुरैशी ने जवाब नहीं दिया. ये भी कहा जाता है कि कांग्रेस के टाइम पर मोईन पर छापे इसलिये पड़े क्योंकि कई मंत्री आपस में ही भिड़ गये थे. और एक-दूसरे को सबक सिखाने के लिये एक-दूसरे के लोगों पर शिकंजा कसा गया था.

a p singh

ए पी सिंह

कहानी पर्निया कुरैशी की, जिसके शौक बहुत ही महंगे हैं

4 नवंबर 2013 को दिल्ली के इंदिरा गांधी हवाई अड्डे पर पर्निया कुरैशी को डिटेन किया गया था. फैशनिस्टा पर्निया के पास से 16 डिजाइनर बैग मिले जिनकी कीमत 35 लाख रुपये थी. इटली के डिजाइनर कोर्टो मॉल्टेडो का डिजाइन किया हुआ.

Pernia_Qureshi_Profile

पर्निया

कुरैशी की बेटी पर्निया फैशन स्टोर चलाती है. इसकी शादी लंदन में बिजनेस करने वाले अर्जुन से हुई है. ससुराल वाले कांग्रेस के समय केंद्रीय मंत्री रहे जितिन प्रसाद के नजदीकी हैं. पर्निया ने वाशिंगटन से पढ़ाई की है. क्रिमिनल जस्टिस में. कॉस्मोपॉलिटन मैगजीन के साथ काम किया. 2008 में इंडिया आई और टॉप के डिजाइनरों के साथ काम किया. 2010 में आई फिल्म आयशा में भी उसने डिजाइन किया था. 2012 में अपना स्टोर भी खोल लिया. जब शादी हुई 2011 में तो 80 लाख रुपये का ड्रेस पहना था. पर्निया और उसका हसबैंड अजय दिल्ली के 5-स्टार अमन होटल के सबसे महंगे पेंटहाउस में रहते थे. पर्निया को शॉपिंग का बहुत ज्यादा शौक है. बहुत ज्यादा. अपने छतरपुर फॉर्महाउस में दो वॉक-इन वॉर्डरोब बनवाये थे. गरमी और जाड़े दोनों के लिये. पर्निया ने बहुत सारी मैगजीन्स को इंटरव्यू दिये हैं. बताया है कि वीकेंड पर जयपुर चली जाती हूं. 40 मिनट लगता है. रामबाग पैलेस में. दो दिन वहीं रहती हूं. एकदम पैक. ये ताज होटल का है. हवामहल के एक सुइट में रहती हूं. हमेशा उसी में जाती हूं. उसका एक रात का 30 हजार रुपया लगता है.

पर्निया ने एक साल के अंदर अपने पति से तलाक ले लिया था. 2015 में उसने मुजफ्फर अली की फिल्म जांनिसार में काम किया था.

कोई नहीं जानता कि क्या होगा इस केस में. मोईन कुरैशी क्या कर सकता है, ये भी कोई नहीं जानता. पर लोग इतना समझते हैं कि मोईन कहीं भी लाइन में तो नहीं लगा होगा नोट चेंज करवाने के लिये. पर्निया कुरैशी भी अपने वीकेंड मनाने जयपुर ही जाती रहेंगी. वो भी नोट तो नहीं ही बदलवा रही होंगी.



Reported By:ADMIN
Indian news TV