State News 

सिंहों के संवर्धन और संरक्षण के लिए राज्य सरकार द्वारा 350 करोड़ के पैकेज का कार्य तत्काल पूर्ण करने के मुख्यमंत्री ने दिए निर्देश

 

.....................

सासण में मुख्यमंत्री श्री रूपाणी की अध्यक्षता में

वन विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक आयोजित हुई

.....................

देश-विदेश से आने वाले पर्यटक बड़ी संख्या में सिंह दर्शन कर सकें, इसके लिए

देवळिया और आम्बरडिया में वन विभाग उचित व्यवस्था खड़ी करेगा

.....................

सिंह गुजरात की अनोखी पहचान हैं: मुख्यमंत्री

.....................

गुजरात सरकार द्वारा सिंहों के संवर्धन और संरक्षण के लिए 350 करोड़ का पैकेज तैयार किया गया है। मुख्यमंत्री श्री विजय रूपाणी ने इस पैकेज का समग्र कार्य समय सीमा में तुरंत पूर्ण करने का वन विभाग को निर्देश दिया है।

जूनागढ़ जिले के सासण स्थित सिंह सदन में मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में वन विभाग के आला अधिकारियों की बैठक आयोजित की गई जिसमें वन मंत्री श्री गणपतभाई वसावा भी उपस्थित थे।

श्री रूपाणी ने कहा कि सिंह गुजरात की अनोखी पहचान हैं। गुजरात पर्यटन प्रवृत्तियों में में भी सिंह और सासण गीर अभ्यारण्य का विशेष महत्व है। देश- विदेश से बड़ी संख्या में आने वाले पर्यटक ज्यादा से ज्यादा सिंह दर्शन कर सकें, इसके लिए देलळिया पार्क और आम्बरडी में वन विभाग द्वारा उचित व्यवस्था की जाए। उन्होंने आम्बरडी में सिंह दर्शन के लिए पर्यटकों के सुविधार्थ वेन की वयवस्था करने का भी आदेश दिया।

श्री रूपाणी ने सासण स्थित वन विभाग के आधीन सिंह सदन को भी आधुनिक सुविधायुक्त बनाकर पर्यटकों को आकर्षित किया जा सके, इस प्रकार से बनाने का निर्देश दिया।

उन्होंने गीर के वन अभ्यारण्य क्षेत्र में पेट्रोल- डीजल वाहनों के स्थान पर टूरिस्टों के लिए इलैक्ट्रिक से चलने वाले वाहनों की व्यवस्था करने को कहा। उन्होंने क्षेत्र में गैरकानूनी रूप से सिंह दर्शन रोका जाए, इसके लिए भी व्यवस्था करने के निर्देश दिए।

इस बैठक में वन विभाग द्वारा मुख्यमंत्री के समक्ष 350 करोड़ के लॉयन पैकेज के अंतर्गत हुए कामकाज का प्रजेंटेशन प्रस्तुत किया गया।

मुख्यमंत्री ने लॉयन पैकेज के विभिन्न महत्वपूर्ण लॉयन अस्पताल, सिंहों के लिए सघन उपचार केन्द्र, सिंहों के लिए अन्वेषण, संशोधन एवं निदान केन्द्र, ड्रॉन से निगरानी, रेडियो कॉलर से निगरानी, वन्य प्राणियों के रेस्क्यु के लिए आधुनिक लॉयन एम्बुलेंस वैन, सिंहों के लिए कोरेंटाइन सेंटर, शेत्रुंजी डिविजन का गठन, लॉयन कंजर्वेशन एक्टिविटी के साथ जुड़े स्टाफ का प्रशिक्षण, रेस्क्यु सेंटर का सुदृढ़ीकरण, एनिमल एक्सचेंज, वेटरनरी कैडर की स्थापना, आईसीयु उपचार केन्द्र और टीकाकरण आदि मामलों की समीक्षा कर आवश्यक निर्देश दिए।

बैठक में वन विभाग के एडिशनल चीफ सेक्रेटरी सर्वश्री डॉ. राजीवकुमार गुप्ता, अग्र मुख्य वन संरक्षक एसएम. शर्मा, मुख्य वन संरक्षक डीटी वसावड़ा, प्रदीपसिंह, उप वन्य संरक्षक श्री पुरुषोत्तम, सुश्री राज सन्दीप, धीरज मित्तल, श्री प्रियांक, सुनील गेरवाल, सासण वाइल्ड लाइफ के संरक्षक डॉ. राममोहन, जूनागढ़ सक्करबाग के निदेशक रामरतन नाला उपस्थित थे।

प्रारम्भ में एडिशनल चीफ सेक्रेटरी डॉ. राजीव कुमार गुप्ता ने वन विभाग के आधीन विभिन्न प्रवृत्तियों की विस्तृत जानकारी मुख्यमंत्री को दी।



Reported By:Admin
Indian news TV