Sports News 

श्रीलंका ने अपनी वर्ल्ड कप टीम के कप्तान के नाम पर बड़ा मजाक किया है

चूंकि 25 अप्रैल तक सभी टीमों को अपनी वर्ल्ड कप टीम की घोषणा करनी है, श्रीलंका भी अपनी टीम जुगाड़ने में लगी है. श्रीलंका क्रिकेट के लिए ये सबसे खराब दौर है क्योंकि टीम एक हो ही नहीं पा रही है. जल्द ही श्रीलंका अपनी 15 सदस्यीय टीम का ऐलान करेगी मगर उससे पहले उन्होंने एक ऐलान जरूर किया है. और वो है कप्तान के नाम का ऐलान. मगर लसिथ मलिंगा को कप्तान नहीं बनाया है. उनकी जगह उस खिलाड़ी को वनडे टीम की कप्तानी दी है जिसने अपना आखिरी वनडे इंटरनेशनल चार साल पहले 2015 के वर्ल्ड कप में खेला था. टेस्ट में कप्तानी कर रहे दिमथ करुणारत्ने को श्रीलंका की वर्ल्ड कप टीम का कप्तान बनाया गया है.

श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड के चीफ सलेक्टर असंथा डी मेल ने कहा कि टीम को उस कप्तान की जरूरत थी जो सबको साथ रख सके. बीते कुछ वक्त में टीम में कई पर्सनैलिटी क्लैश हुए हैं और खिलाड़ी अनुशासनात्मक दायरों को भी पार करते दिखे हैं. ऐसे में कप्तान की भूमिका अहम है.” मगर यहां बोर्ड ये भूल गया कि ये वही करुणारत्ने हैं जिन्हें अभी 10 दिन पहले श्रीलंका में शराब के नशे में गाड़ी चलाते हुए गिरफ्तार किया गया था. इन्होंने एक ऑटो को टक्कर मार दी थी जिसमें बैठे दो लोग घायल हुए थे और जब करुणारत्ने को गिरफ्तार किया गया तो पुलिस ने पाया कि वो शराब के नशे में कार चला रहे थे. बोर्ड ने उन पर करीब 5 लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया था.

करुणारत्ने की गिरफ्तारी के बाद ये बात चलने लगी थी कि वर्ल्ड कप में वनडे टीम की कप्तानी मलिंगा को मिलेगी. यहां आईपीएल में मलिंगा अच्छी गेंदबाजी करवा रहे हैं. 4 मैच खेले हैं औऱ 7 विकेट लिए हैं. फिर वो बीच में श्रीलंका में डोमेस्टिक टूर्नामेंट भी खेलने गए और अच्छा परफॉर्म करके आए. जाते ही 7 विकेट ले लिए थे. मगर ये सब मलिंगा को कप्तानी नहीं दिला सके. मगर जब बात मलिंगा पर आई तो सलेक्टर ने कहा कि वो कप्तान के तौर पर ठीक हैं मगर वो टीम के सीनियर खिलाड़ियों को साथ लेकर नहीं चल पाते हैं.” अब जब मलिंगा से कप्तानी ले ली गई है तो बोर्ड के पास करुणारत्ने के अलावा कोई ऑप्शन भी नहीं बचता है क्योंकि एंजेलो मैथ्यू पहले ही कप्तानी से इसलिए हाथ खींच चुके हैं क्योंकि उनकी कोच चंडीका हथूरुसिंघे से नहीं बनती है. मलिंगा की कप्तानी में टीम साउथ अफ्रीका में वनडे सीरीज 0-5 और टी20 सीरीज 0-2 से हार गई थी.

खैर, करुणारत्ने की टेस्ट कप्तानी में टीम फरवरी में ऐतिहासिक सीरीज जीत दर्ज करके आई है. वही एक जीत इनके फेवर में काम कर गई. मगर दिक्कत ये है इस ओपनिंग बल्लेबाज ने अपना पिछला वनडे 2015 के वर्ल्ड कप में खेला था. यानी पिछले चार साल में एक भी वनडे इंटरनेशनल नहीं खेला है. करियर में 17 वनडे मैच खेले हैं, जिसमें उन्होंने 15.83 के औसत से 190 रन बनाए हैं.

अब मलिंगा के हाथ से कप्तानी ले ली गई तो सोशल मीडिया पर उनकी रिटायरमेंट की खबरें भी चलने लगी हैं. मगर मलिंगा ने इन सब बातों  का खारिज किया है.

 

Malinga tweet



Reported By:Admin
Indian news TV