Sports News 

श्रीलंका का स्कोर 128/7 था, फिर ये बल्लेबाज आया और 13 छक्कों, 8 चौकों की तबाही लाया

एक मैच चल रहा था. श्रीलंका और न्यूजीलैंड के बीच में. सीरीज का दूसरा वनडे. श्रीलंका इन दिनों न्यूजीलैंड में है. न्यूजीलैंड ने टॉस जीता और पहले बैटिंग करने का फैसला किया. खूब रन भी बनाए. 50 ओवरों में 319 रन कूट दिए. श्रीलंका की शुरुआत अच्छी नहीं हुई. एक के बाद एक विकेट गिरने लगे. श्रीलंका के 7 विकेट 128 पर गिर गए. अब किसे उम्मीद थी कि इस मैच में श्रीलंका के लिए कुछ बचा है. सातवें नंबर पर बल्ला लिए मैदान पर उतरा एक बल्लेबाज. नाम थिसरा परेरा. बाएं हाथ के इस ऑलराउंडर ने क्या ट्रेंट बॉल्ट, क्या टिम साउदी और क्या इश सोढ़ी, सबकी रेल बना दी.

128 पर 7 विकेट खोने के बाद कोई बल्लेबाज जीतने के लिए 320 के टारगेट की ओर बढ़ने की हिम्मत भी दिखाए, ये बड़ी बात है. मगर परेरा ने सिर्फ हिम्मत ही नहीं दिखाई, बड़ा जिगरा दिखाया और पहले 28 गेंदों में 52 रन मार दिए. फिर अगले 50 रनों के लिए 30 गेंदें लीं. परेरा ने अपने करियर की पहली सेंचुरी सिर्फ 58 गेंदों में मार दी. वो यहीं नहीं रुके, मैच को इतने करीब ले गए कि किसी के भी हाथ पैर फूल जाएं. दूसरे छोर पर खड़े दोनों बल्लेबाज आउट हो चुके थे और स्कोर 298 हो गया था. इसी बीच परेरा की पीठ में दिक्कत होने लगी और फिजियो मैदान पर लेटा कर स्ट्रैचिंग करवाने लगा. मगर 73 गेंदों पर 140 रनों की इस पारी के बाद एक शॉन परेरा ने खेला और ट्रेंट बॉल्ट ने एक जादुई कैच पकड़ कर इस पारी को खत्म कर दिया.

श्रीलंका ये मैच 21 रनों से हार गई मगर हीरो बनकर निकले थिसारा परेरा. इस पारी में परेरा ने 13 गगनचुंबी छक्के और 8 चौके मारे. यानी 140 में से 110 रन सिर्फ चौकों छक्कों से आए. एक वक्त तक खत्म हो चुके इस मैच में परेरा ने जो जान फूंकी उससे उनकी ये पारी लंबे वक्त तक याद रखी जाएगी. मैच हारने के बावजूद परेरा को मैन ऑफ द मैच दिया गया. साथ ही 29 साल के परेरा ने ये भी दिखा दिया कि कमजोर पड़ रही श्रीलंका की टीम में वो वर्ल्ड कप की कितनी बड़ी उम्मीद बनने वाले हैं.



Reported By:Admin
Indian news TV