National News 

उन्नाव केस: सेंगर के खिलाफ रेप केस में मिले सबूत, पीड़िता बोली- मौत की सजा हो

उन्नाव गैंगरेप केस की जांच कर रही CBI को आरोपी BJP विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के खिलाफ अहम सबूत मिले हैं. सीबीआई का कहना है कि उन्हें ऐसे सबूत मिले हैं, जिनसे सेंगर की इस मामले में संलिप्तता साबित होती है. इसके अलावा मामले में पुलिस द्वारा शुरुआत में लापरवाही बरते जाने के भी सबूत मिले हैं.

सीबीआई का कहना है कि फोरेंसिक जांच की रिपोर्ट और घटनाक्रम को रिकंस्ट्रक्ट करने के बाद वह इस निष्कर्ष पर पहुंची है कि पीड़िता द्वारा लगाया गया गैंगरेप का आरोप सही है.

सीबीआई ने अब तक इस मामले में आरोपी विधायक सेंगर, पीड़िता के पिता की पीट-पीट कर हत्या के आरोपी विधायक के भाई अतुल सेंगर, कुलदीप सेंगर की नजदीकी सहयोगी रही महिला शशि सिंह समेत कई लोगों से पूछताछ की.

इसके अलावा सीबीआई ने पूरे घटनाक्रम को क्रमवार तरीके से रीकंस्ट्रक्ट भी किया. पीड़िता ने 164 के तहत दर्ज बयान में घटना का जो ब्यौरा दिया है, वह सीबीआई द्वारा घटनाक्रम के रिकंस्ट्रक्शन में सही पाया गया.

I demand death penalty for BJP MLA Kuldeep Singh Sengar for raping me and for murder of my father: #Unnao rape case victim pic.twitter.com/iwwa6YM8QV

— ANI UP (@ANINewsUP) May 11, 2018

पीड़िता ने मांगी सेंगर के लिए मौत की सजा

सीबीआई की जांच में कुलदीप सिंह सेंगर के खिलाफ सबूतों के मिलने के बाद पीड़िता ने आरोपी विधायक सेंगर को सजा-ए-मौत देने की मांग की है. पीड़िता ने कहा कि उसने अपने साथ रेप किए जाने और पिता की हत्या करवाने के लिए आरोपी विधायक को मौत की सजा दिए जाने की मांग की है.

वहीं पीड़िता के चाचा ने भी कुलदीप सिंह सेंगर को मौत की सजा दिए जाने की मांग दोहराते हुए कहा कि उन्होंने अपने परिवार की सुरक्षा मांगी है ताकि वे बिना किसी डर के कोर्ट में बयान दर्ज करवा सकें.

आज POCSO कोर्ट में पेश होंगे आरोपी विधायक

इस बीच आरोपी विधायक आज POCSO के तहत दर्ज मामले में कोर्ट में पेश होंगे. हालांकि विधायक की पेशी सीतापुर जेल से ही वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए होगी. आरोपी कुलदीप सेंगर की इससे पहले भी वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए पेशी हो चुकी है. जानकारी के मुताबिक, सुरक्षा कारणों से विधायक की पेशी वीडियो कॉफ्रेसिंग के जरिए होती है.

We demand protection for our family so that we can give our statement before the court fearlessly. We demand death penalty for Kuldeep Sengar: #Unnao gang-rape case victim's uncle on reports of CBI confirming rape charges against BJP MLA Kuldeep Sengar pic.twitter.com/Pjvku7bJ5B

— ANI UP (@ANINewsUP) May 11, 2018

अहम सबूत माना जाएगा पीड़िता का बयान

सीबीआई की स्पेशल जुडीशियल मजिस्ट्रेट सपना त्रिपाठी के समक्ष सीआरपीसी की धारा 164 के तहत पीड़िता ने 16  अप्रैल को बयान दर्ज करवाया था. पीड़िता ने मजिस्ट्रेट के सामने भी अपने आरोपों को दोहराते हुए कहा कि 4 जून, 2017 को शशि उसे विधायक कुलदीप सेंगर के पास ले गई थी, जहां सेंगर ने उसके साथ रेप किया. इस दौरान शशि सिंह दरवाजे पर पहरा देती रही.

सीआरपीसी के तहत दर्ज पीड़िता के इस बयान को भी अब इस केस में अहम सबूत माना जाएगा और अब पीड़िता अपना बयान नहीं बदल सकती. और यदि पीड़िता अपना बयान बदलती है तो उस पर झूठी गवाही देने का केस चल सकता है.

विधायक द्वारा रेप के बाद अगवा कर पीड़िता से हुआ गैंगरेप

सीबीआई के सूत्रों ने आजतक को बताया कि आरोपी विधायक कुलदीप सेंगर द्वारा रेप किए जाने के चौथे दिन 11 जून को शशि सिंह के बेटे शुभम सिंह ने अपने दो अन्य साथियों अवध नारायण और बृजेश यादव की मदद से अगवा कर बंधक बना लिया और उसके बाद पीड़िता से 19 जून तक कई बार गैंगरेप किया गया. सीबीआई ने इन सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.

पीड़िता किसी तरह 20 जून को उनके चंगुल से निकल भागी और अपने परिवार के पास पहुंची. उसी दिन पीड़िता के परिवार वालों ने पुलिस में पहली FIR दर्ज करवाई. लेकिन पुलिस द्वारा उस दिन दर्ज एफआईआर में कुलदीप सेंगर और शशि सिंह का नाम नहीं है.

पुलिस की लापरवाही के मिले सुबूत

सीबीआई को मामले में स्थानीय पुलिस की लापरवाही के भी सबूत मिले हैं. सीबीआई की अब तक की जांच में सामने आया है कि पहली बार दर्ज करवाई गई FIR में पुलिस ने आरोपी विधायक का नाम शामिल ही नहीं किया था. बता दें कि सीबीआई के पास जांच के लिए इस समय जो मामला है, वह आरोपी विधायक के खिलाफ चौथी FIR थी. इतना ही नहीं केस को लटकाने और आरोपी विधायक को बचाने के लिए पुलिस ने पीड़िता का मेडिकल कराने में भी देरी  की.

उन्नाव से सीतापुर जेल शिफ्ट किए गए सेंगर

बीते मंगलवार को आरोपी विधायक कुलदीप सेंगर को उन्नाव से सीतापुर जेल शिफ्ट कर दिया गया. इलाहाबाद हाईकोर्ट के निर्देश पर सेंगर को सीतापुर जेल शिफ्ट किया गया. दरअसल पीड़िता ने हाईकोर्ट में अपील की थी कि आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर से उसकी और उसके परिवार को खतरा है. वह उन्नाव में रहकर इस केस को भी प्रभावित कर सकता है. ऐसे में उसे उन्‍नाव जेल से यूपी के बाहर शिफ्ट किया जाए. आरोप है कि कुछ जेल अधिकारी भी कुलदीप सिंह सेंगर के रिश्‍तेदार हैं.

आरोपी विधायक का भाई भी जेल में बंद

पीड़िता के पिता की पीट-पीटकर हत्या के आरोप में कुलदीप सेंगर के भाई अतुल सेंगर सहित 5 आरोपी पहले से ही जेल में हैं. इसके अलावा घटना वाले दिन पीड़िता को आरोपी विधायक के पास ले जाने वाली कुलदीप सेंगर की नजदीकी सहयोगी शशि सिंह को भी जेल भेज दिया गया है.

पुलिस पर सीबीआई को फर्जी शिकायत सौंपने का आरोप

पीड़िता के परिवार ने शुरू में मामले की जांच कर रही स्थानीय पुलिस पर उनकी शिकायत बदलने का आरोप लगाया था. उनका कहना है कि जब केस सीबीआई के हवाले किया गया तो पुलिस ने उनकी शिकायत को फर्जी तरीके से बदलकर सीबीआई के अधिकारियों को सौंपा ताकि आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर का पक्ष मजबूत हो सके.

आरोपी विधायक को बचाने की कोशिश

पीड़ित परिवार का आरोप है कि पुलिस ने फर्जी तरीके से उनकी शिकायत को बदला है. पीडित परिवार के मुताबिक बदली हुई तहरीर में पीडित परिवार की तरफ से फर्जी अंगूठा और दस्तखत भी किए गए हैं. आरोपी भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को बचाने के लिये पीडिता की तहरीर को बदल कर पूरे मामले को बदलने की कोशिश की गई है.

विधायक पर गैंगरेप-हत्या का आरोप

गैंगरेप पीड़िता का आरोप है कि उसके साथ 4 जून 2017 को बीजेपी विधायक कुलदीप सेंगर और उनके साथियों ने गैंगरेप किया था. उसने बीजेपी विधायक से रेप का विरोध किया, तो उसने परिवार वालों को मारने की धमकी दी. जब वो थाने में गई तो एफआईआर नहीं लिखी गई. इसके बाद तहरीर बदल दी गई. वह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलने लखनऊ गई.

पिता को बर्बरता से पीटने का आरोप

पीड़िता ने कहा, 'मुख्यमंत्री से आरोपी विधायक की शिकायत की थी. उन्होंने इंसाफ का भरोसा दिलाया था, लेकिन एक साल हो गया. अब तक कुछ नहीं हुआ. दिल्ली से उसके पिता गांव आए, तो विधायक के लोगों ने उनको बहुत मारा. उनको घसीटकर ले गए . पीटने के बाद उन्हें अपने घर के बाहर फेंक दिया. इसके बाद उन्हें जेल में बंद कर दिया गया, जहां उनकी मौत हो गई है.'



Reported By:Admin
Indian news TV