National News 

तीन तलाक पर पीएम मोदी ने राज्यसभा में कहा, हिंदू दो शादी करके जेल चला जाए तो...?

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को संसद में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर हुई चर्चा का जवाब दिया. पीएम लोकसभा में कांग्रेस पर जमकर बरसे. इसके बाद, शाम को 4 बजे पीएम मोदी ने राज्यसभा को भी संबोधित किया. पीएम मोदी ने कांग्रेस पर तीन तलाक बिल को अटकाने का आरोप लगाते हुए पूछा कि अगर हिंदू दो शादी करके जेल चला जाए तो उसके परिवार का भरण-पोषण कौन करेगा. 

 

पीएम मोदी ने कांग्रेस के नेम चेंजर वाले तंज पर जवाब देते हुए कहा कि वह नेम चेंजर नहीं बल्कि ऐम चेंजर हैं यानी लक्ष्य का पीछा करना उनका मकसद है. पीएम ने कहा, ‘कांग्रेस ने कभी लाल किले से दूसरी सरकारों की तारीफ नहीं की जबकि मैंने की है. पीएम मोदी ने कहा, "बीजेपी की बुराई करते-करते आप भारत की बुराई करने लग जाते हैं. मोदी पर हमला बोलते-बोलते आप हिंदुस्तान पर हमला बोलने लगते हैं." उन्होंने कांग्रेस पर हमला तीखा करते हुए कहा, "आपको गांधी जी वाला भारत चाहिए मुझे भी गांधी जी वाला भारत चाहिए. गांधी जी ने कहा था आजादी मिल गई अब कांग्रेस की जरूरत नहीं है." 

 

नेहरू से लेकर राहुल-खड़गे तक, PM मोदी ने चुन-चुन कर कांग्रेस पर किए ये 10 हमले

इससे पहले पीएम मोदी ने लोकसभा में कांग्रेस पर जमकर हमला बोला. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि कांग्रेस अपने इस ‘‘पाप’’ के लिये उनकी सरकार पर गलत आरोप लगा रही है जिसने बैंकों के एनपीए के आंकड़ों को छिपाने का काम किया. राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘ अगर मुझे राजनीति करनी होती तो पहले ही दिन देश के सामने सारे तथ्य रख देता. ऐसे समय बैंकों की दुर्दशा की बात देश के अर्थतंत्र को तबाह कर देती. देश में ऐसा माहौल बन जाता जिससे निकालना मुश्किल हो जाता. इसलिए देश की भलाई के लिए आपके पापों को लेकर मैं मौन रहा.’’ उन्होंने कहा कि अब अब बैंकों को आवश्यक ताकत दे दी गई है . योजना बनाई गई . पुन: पूंजीकरण पर काम किया है. अब वे कांग्रेस के चार साल से बोले जा रहे झूठ के संबंध में सचाई देश के समक्ष रख रहे हैं .

मोदी ने कहा कि वह लोकतंत्र के मंदिर में कहना चाहते हैं कि नयी सरकार आने के बाद एक भी लोन ऐसा नहीं दिया जिसमें एनपीए की नौबत आई हो. उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने एनपीए को छिपाया, आंकड़े गलत दिये. उसने अपने कार्यकाल में लोन एडवांस पर 36 प्रतिशत एनपीए होने की बात कही. हमने पता लगाया तो यह 82 प्रतिशत था. कांग्रेस ने इसे छिपाया क्योंकि उसमें उसके हित थे. बैंकों का एडवांस 18 लाख करोड़ रूपये से बढ़कर 52 लाख करोड़ रूपये हो गया . उन्होंने कहा कि बैंकों की गैर निष्पादित आस्तियों (एनपीए) के बारे में चार वर्षो तक कांग्रेस के झूठ को झेलते रहे, यह कांग्रेस के पाप का नतीजा है और देश इस पाप के लिये उसे कभी माफ नहीं करेगा .

मोदी ने कहा, ‘‘भ्रष्टाचार और कालेधन के मामले में कोई भी बचने वाला नहीं है. पहली बार पूरे देश में चार-चार पूर्व मुख्यमंत्रियों को न्यायपालिका ने दोषी करार दिया है. वे जेल में रहेंगे. कोई नहीं बचेगा . मैं इस काम में पीछे रहने वाला नहीं हूं. मैं लड़ने वाला आदमी हूं . ’’ उन्होंने कहा कि देश में ईमानदारी का माहौल बना है. अधिक लोग आगे आ रहे हैं, आयकर दे रहे हैं. उन्हें भरोसा है कि सरकार के खजाने का पाई पाई का हिसाब मिलेगा.

बैंकों के एनपीए पर कांग्रेस के आरोपों के संदर्भ में उन्होंने कहा, ‘‘ झूठ बोलो, जोर से झूठ बोलो, बार बार झूठ बोलो... ऐसी कुछ लोगों की आदत हो गयी है.’’ मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को उद्धृत करते हुए कांग्रेस पर निशाना साधा और कहा कि ‘‘ छोटे मन से कोई बड़ा नहीं होता, टूटे मन से कोई खड़ा नहीं होता.’’ उन्होंने कहा कि एनपीए के पीछे पुरानी सरकार के कारोबार हैं . शत प्रतिशत पुरानी सरकार जिम्मेदार है. ऐसी बैंकिंग नीति बनाई थी जिसमें बैंकों पर दबाव बनाये जाते थे. चहेतों को लोन दिलाया गया. बैंक से गया पैसा कभी वापस नहीं आया. कांग्रेस पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि उस समय देश लूटा जा रहा था, अरबों खरबों रुपये दे दिये गए .

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘ मेरा स्वच्छता अभियान केवल चौराहों तक नहीं है. आचार, विचार में भी है.’’ मोदी ने कहा, ‘‘आज जो ब्याज बढ़ रही है, वह आपके समय के पाप का नतीजा है. देश इस पाप के लिए कभी आपको माफ नहीं करेगा. कभी तो देश को इसका हिसाब आपको देना होगा.’’ उन्होंने कहा, ‘‘हिट एंड रन वाली राजनीति चल रही है . कीचड़ फेंको और भाग जाओ. जितना कीचड़ उछाल लो, कमल उतना ही खिलेगा.’’ मोदी ने कहा कि आपने कतर से गैस लेने का 20 साल का करार किया था. जब उनकी सरकार आई तो कतर से बात की, उन्हें मनाया और गैस की खरीद पर 8000 करोड़ रुपये बचाये. इसी तरह से आस्ट्रेलिया के साथ एक करार में 4000 करोड़ रुपये बचाये. कांग्रेस पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, ‘‘अब ज्यादा पैसे किसने दिये, क्यों दिये, किसके हित के लिए दिये. आप ये जवाब नहीं देंगे लेकिन देश की जनता जवाब मांगेंगी.’’ प्रधानमंत्री ने कहा कि पूर्व की सरकार के समय में सीएफएल बल्ब 350 रूपये का मिलता था, आज 40 रुपये में मिल रहा है. कंपनी वही है, तकनीक में कोई अंतर नहीं. ये कैसे हुआ, यह कोई बताए. उन्होंने कहा कि जिसे जितना लूटना है लूटो, लेकिन हमारा ख्याल रखो. कांग्रेस का यही मंत्र रहा. 



Reported By:Admin
Indian news TV