International News 

डोनाल्‍ड ट्रंप दुनिया को दिखाना चाहते हैं अपने ताकतवर हथियार और सेना, आर्मी चीफ से कहा- सैन्‍य परेड निकालो

वाशिंगटनः अमेरिका का राष्ट्रपति घोषित होने के बाद डोनाल्ड ट्रंप का दुनियाभर में विरोध हुआ. दुनिया के विरोधों को सामना करने के बावजूद डोनाल्ड ट्रंप ने किसी की नहीं सुनी और अपने काम को करते रहे. अमेरिका की सत्ता संभालने के बाद नॉर्थ कोरिया के तानाशाह किंग जोंग को चेतावनी देने वाली ट्रंप अब खुद ही उसकी राह पर चलते नजर आ रहे हैं. किंग जोंग की तरह ही ट्रंप दुनिया के सामने अपनी शक्ति का प्रदर्शन करना चाहते हैं. 

अमेरिका में होगा सैन्य परेड का आयोजन
अमेरिका के राष्ट्रपति कार्यालय व्हाइट हाउस के मुताबिक ट्रंप ने देश के शक्ति प्रदर्शन और कमांडर-इन-चीफ के तौर पर अपनी भूमिका को रेखांकित करने के लिए सैन्य परेड आयोजित करने को कहा है. प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने कहा, 'हमारे देश को सुरक्षित रखने के लिए रोज-रोज अपने जीवन को खतरे में डालने वाले अमेरिकी सैनिकों का राष्ट्रपति ट्रंप बहुत समर्थन करते हैं. उन्होंने कहा कि ट्रंप ने सेना के कमांडर-इन-चीफ को एक ऐसा उत्सव का आयोजन करने के लिए कहा है, जहां सभी अमेरिका के लोग सेना का सम्मान जाहिर कर सके.

सैन्य परेड के बहाने दुनिया को ताकत का प्रदर्शन
सैन्य परेड के बहाने डोनाल्ड ट्रंप दुनिया को अमेरिका ताकत का एक नमूना दिखाना चाहते हैं. दुनिया के वो तमाम देश जिनको चेतावनी देने के बाद भी वह अमेरिका के खिलाफ साजिश करने से पीछे नहीं हट रहे हैं, ट्रंप उन्हें चेतावनी देना चाहते हैं. बता दें कि नॉर्थ कोरिया को अमेरिका लगातार धमकियां दे रहा है और अंतर्राष्ट्रीय दबाव बनाने की कोशिश कर रहा है. इसके बाबजूद नॉ़र्थ कोरिया अपनी मिसाइलों को परीक्षण कर रहा है. पिछली बार जब नॉर्थ कोरिया ने बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया था तो वह जापान के ऊपर से गुजरा था. नॉर्थ कोरिया के इस कदम के बाद ऐसा माना जा रहा था कि जापान पर हमला करके वह अमेरिका को चेतावनी देना चाहता है.

 

Trump had asked for military cruises

अमेरिका में पहली बार किसी सैन्य शक्ति का प्रदर्शन होने जा रहा है.

निया को शक्ति का प्रदर्शन
डोनाल्ड ट्रंप का अमेरिकी सैन्य शक्ति का प्रदर्शन इस बात की ओर इशारा कर रहा है कि वह अब नॉर्थ कोरिया समेत उन सभी देशों को चेतावनी देना चाहता है जो उसकी धमकियों को सिरे से खारिज करते हुए आए हैं. इस सैन्य प्रदर्शन के साथ ही ट्रंप दुनिया को यह बताना चाहते हैं कि अमेरिका अब भी दुनिया का सबसे ताकतवर देश है.



Reported By:News Editor
Indian news TV