State News 

क्या प्रदेश के शिक्षा मन्त्री को यह आचरण सोहता है ?

मित्रों बात उन दिनों की है जब अजमेर नगर निगम के मेयर-पद के लिए खींचतान चल रही थी और वासुदेव देवनानी जी मेयर की जनरल सीट पर सामान्य वर्ग का हक़ मारकर ओबीसी धर्मेन्द्र गहलोत को काबिज करवाने में सफल हो गए थे।
उन दिनों  देवनानी जी और अनीता भदेल में उत्तर और दक्षिण क्षेत्र को लेकर शीतयुद्ध ज़ोरों पर था।
मैंने मेयर के चुनाव और अजमेर के उत्तर-दक्षिण विवाद को लेकर कुछ ट्वीट देवनानी जी को किये जिन्हें वे झेल नहीं पाए।
आलोचना को सहन करने की शक्ति हर किसी में नहीं होती। फलस्वरूप इस अदने से व्यक्ति ने जिसे अजमेर की जनता ने मंत्रीपद तक पहुंचाया मुझे उनमे ट्वीट्स देखने के लिए ब्लॉक कर दिया।इसमें शायद उनका दोष कम ही है क्योंकि अपुष्ट ख़बरों से मुझे ज्ञात हुआ कि देवनानी जी का ट्विटर अकाउंट कोई और हैंडल करता है।
 मित्रों यहाँ मैं आपको सूचित कर दूँ और जो सोशल मीडिया के जानकार हैं उनको पता ही होगा कि देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी की आलोचना सोशल मीडिया पर बहुत होती है कुछ लोग तो हद भी पर कर लेते हैं इसका ज़िक्र मोदीजी ने एकबार मन की बात में भी किया था पर क्या मज़ाल कि उन्होंने किसी को भी ब्लॉक किया हो।
 वासुदेव देवनानी जी को  नरेन्द्र मोदी जी से प्रेरणा लेकर सीखना चाहिये।
मित्रों मैं समझता हूँ अजमेर की जागरूक जनता को यह सब  नहीं चाहिये है।
उसे परिवर्तन चाहिये।
तो परिवर्तन की बयार अजमेर उपचुनाव से ही हो जाये।
जयहिन्द।
राजेन्द्र सिंह हीरा
        अजमेर
(M) 8005842808



Reported By:Admin
Indian news TV